/महावितरण के ठेका श्रमिकों का आंदोलन स्थगित
thehnews.com

महावितरण के ठेका श्रमिकों का आंदोलन स्थगित

महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी वर्कर्स फेडरेशन ने मुख्य अभियंता दिलीप दोड़के से चर्चा के बाद महावितरण में सेवा दे रहे ठेका कामगारों ने सामूहिक अवकाश पर जाने का आंदोलन स्थगित कर दिया।

मई 2011 __ चर्चा के बाद ठेका में एसएनडीएल कामगारों का प्रस्ताव ने महावितरण के मंजूरी के लिए सिविल लाइंस, गांधीबाग व मुख्यालय भेजा महल विभाग की फ्रेंचाइजी अपने हाथ में ली थी। एसएनडीएल ने गत वर्ष सितंबर में तीनों विभागों से फ्रेंचाइजी छोड़ दी थी, जिसके बाद महावितरण ने तीनों विभागों का कामकाज अपने हाथ में लिया। महावितरण के इन तीन विभागों में लाइन स्टाफ व ऑपरेटर स्टाफ के तौर पर वेंडर के माध्यम से (आउट सोर्सिंग) 300 से ज्यादा कामगार ठेका पद्धति पर काम कर रहे हैं। महावितरण की तरफ से पिछले कुछ दिन से एक-एक कर ठेका कामगारों को बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है। इससे नाराज सभी ठेका कामगारों ने 2 अक्टूबर से सामूहिक अवकाश पर जाने की चेतावनी दी थी।

75% कामगारों को मिल सकता है काम 

फेडरेशन के अध्यक्ष मोहन शर्मा व उपाध्यक्ष चंद्रशेखर मौर्य की मोबाइल पर मुख्य अभियंता दिलीप दोड़के से चर्चा हुई। श्री दोड़के ने ठेका कामगारों का प्रस्ताव मंजूरी के लिए मुख्यालय मुंबई भेजने की जानकारी दी। सोमवार शाम तक प्रस्ताव पर निर्णय होने की उम्मीद है। अगर प्रस्ताव मंजूर होता है, तो 75 फीसदी कामगारों को इन तीन विभागों में ही काम मिल सकता है। शेष कामगारों कि बारे में विचार हो सकता है। फेडरेशन ने सोमवार तक इंतजार करने का निर्णय लेते हुए सामूहिक अवकाश आंदोलन स्थगित कर दिया।

सोमवार शाम को तय होगी रणनीति

मुख्य अभियंता दिलीप दोड़के से चर्चा हुई। ठेका कामगारों का प्रस्ताव मंजूरी के लिए मुख्यालय मुंबई भेजा गय है। सोमवार तक निर्णय अपेक्षित है। जो निर्णय होगा, उसके बाद आगे की रणनीति तय होगी। जवाब सकारात्मक आया, तो आंदोलन पीछे लिया जाएगा। अगर प्रस्ताव मंजूर नहीं हुआ, तो फेडरेशन, महावितरण के संचालक (ऑपरेशन) दिनेशचंद्र सबू से चर्चा करेगा। –चंद्रशेखर मौर्य, उपाध्यक्ष महाराष्ट्र स्टेट..